खुलासा – 251 रूपये का फ़ोन आपके साथ है धोखाधड़ी! कंपनी का तीन महीने पहले ही हुआ रजिस्ट्रेशन!

image

देश का सबसे सस्ते स्मार्ट फ़ोन ”फ्रीडम -251” बुकिंग होने से पहले ही संदेह के घेरे में आ गया है। सोशल मीडिया में छाने के बाद जैसे ही बुकिंग की प्रक्रिया का वक़्त शुरू हुआ वैसे ही रिंगिंग बेल्स कंपनी की वेबसाइट ही क्रेश हो गई। अखबारों में कंपनी के विज्ञापनों में दिए गए कई फोन नंबरों से कोई संपर्क नही हो पा रहा है। जिसके बाद इस सस्ते स्मार्ट फोन फ्रीडम-251 का राज खुलता जा रहा है। टेलिकॉम मिनिस्ट्री भी अब इसको लेकर हरकत में आ गई है और इस फोन को लेकर अब टेलिकॉम मंत्रालय ने जांच के आदेश दे दिए हैं। कुछ जानकारों ने पहले इस मोबाइल को लेकर सवाल उठाये थे।

किरीट सोमैया बोले बड़ा घोटाला हो सकता है 251 रूपये के इस फोन का विज्ञापन अखबारों में सामने आया लोग बड़ी संख्या में कंपनी की वेबसाइट पर आने लगे। कंपनी को सेकण्ड 6 लाख से ज्यादा हिट मिल गए। ख़बरों के अनुसार आज बड़ी संख्या में लोग खुद कंपनी के नॉएडा स्थित दफ्तर पहुँच गए। अब सवाल उठ रहे हैं कि क्या इस सबसे सस्ते स्मार्ट फोन को लेकर कोई धोखाधड़ी हो रही है। बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा है कि इसमें कोई बड़ा घोटाला हो सकता है।

कौन है कंपनी का डायरेक्टर मोहित गोयल ? जानकारी के अनुसार इस कंपनी के डायरेक्टर मोहित गोयल शामली के रहने वाले हैं। उनके पिता एक छोटी सी ग्रोसरी की दुकान चलाते हैं। मोहित के पास मोबाइल इंजीनियरिंग से सम्बंधित कोई प्रोफेशनल अनुभव भी नही है। ”इंडिया संवाद” ने जब रिंगिंग बेल कंपनी की जानकारी जुटानी शुरू की तो पता चला कि मोहित ने सितम्बर 2015 को ही कंपनी शुरू की है। दिसंबर में उन्होंने धारणा गोयल से शादी कर ली, जिन्हे कि कंपनी का सीईओ बताया गया है।

कंपनी का पता है नॉएडा में कंपनी की वेबसाइट अनुसार कंपनी के दफ्तर का पता नॉएडा सेक्टर 63 में B -44 बताया गया है लेकिन दफ्तर को देखकर ऐसा लगता है कि यह कुछ दिन पहले ही शुरू किया गया है। कंपनी के दफ्तर के बाहर गुब्बारे लटके अभी भी साफ़ दिखाई दे रहा है। कम्पनी के पास इतने स्मार्ट फ़ोन कहाँ से आये ? कई लोग सवाल यह भी उठा रहे हैं कि कंपनी ने जब इन स्मार्ट फ़ोन को इम्पोर्ट ही नही किया तो वह आये कहा से क्योंकि कंपनी का कहना है कि वह अब अपनी मेनिफ़ेक्चर दफ्तरों को भविष्य में उत्तराखंड में बनाने की सोच रही है। वहीँ इस मोबाइल फ़ोन के उद्घाटन के मौके पर मनोहर परिकर आने वाले थे लेकिन वह नही आये। प्रमोशन के दौरान कंपनी ने दिखाया दूसरी कंपनी का फोन कहा जा रहा है कि इस कंपनी के विज्ञापन में ही करोड़ों रूपये खर्च किये गए। अखबार की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने अपने प्रमोशन में जो स्मार्ट फोन दिखाए उनमे एडकॉम नामक कंपनी का लोगों था जब एडकॉम कंपनी से बात की गई तो उन्होंने माना कि यह उन्ही की कंपनी का मोबाइल है। उनका कहना था कि उन्हों किसी से इस फ़ोन को लेकर कोई डील नही की है। जिसके बाद रिंगिंग बेल को संदेह और भी गहराता जा रहा है।

image

Rs.251 के फोन को लेकर टेलिकाॅम मंत्रालय ने दिए जांच के आदेश क्या कहती है फ़ोन की कीमत को लेकर मोबाइल इंडस्ट्री ”इंडिया संवाद” ने जब तहकीकात इस बात को लेकर करनी शुरू की कि आखिर सबसे सस्ता स्मार्ट फ़ोन किस कीमत में मिल रहा है। जो बात इस तहकीकात में पता लगी उससे साफ़ हुआ कि चीन में बना सिमटेल कंपनी का सबसे सस्ता स्मार्ट फ़ोन भी 1800 रूपये से कम में में मिलता है।

दिल्ली के सबसे बड़े मोबाइल मार्केट के कुछ डीलरों से भी जब इस सम्बन्ध में बातचीत की गई तो उनका मानना था कि सबसे सस्ता स्मार्ट फ़ोन 1100 रूपये से कम में नही मिल सकता।

कुछ मोबाइल इम्पोर्टर से बातचीत में पता चला कि कई बार चीन से इम्पोर्ट की गई शिपमेंट कुछ कारणों से रद्द की जाती है। वह रद्द रद्द की गई शिपमेंट सस्ते कीमत में बेच ली जाती है लेकिन उन मोबाइल की कीमत भी इतनी कम नही हो सकती। मोबाइल जानकारों का कहना है कि सबसे सस्ते स्मार्ट फ़ोन की कीमत की डिस्प्ले की कीमत 500 से कम नही है।

(इंडिया संवाद डॉट कॉम की रिपोर्ट)

वही बीबीसी हिंदी के अनुसार कंपनी रिंगिंग बेल्स ने कहा है कि स्मार्ट फ़ोन फ़्रीडम 251 की क़ीमत भी महज 251 रुपए होगी. भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल फ़ोन बाज़ार है, जहां एक अरब मोबाइल फ़ोन उपभोक्ता हैं. ऐसे में, इस फ़ोन में बहुत से लोगों की दिलचस्पी है. लेकिन अधिकांश लोग इसे लेकर आशंकित हैं कि क्या ऐसा सच में होगा?

हालांकि यह स्मार्ट फ़ोन देखने में एप्पल के आई फ़ोन जैसा दिखता है. यहां तक कि इसमें दिखने वाले अधिकांश ऐप आईकन भी वैसे ही दिखते हैं. लेकिन इसकी क़ीमत को देखते हुए इसका 8 जीबी का स्टोरेज और फ्रंट और बैक कैमरा हैरानी पैदा करता है.

फ़ोन में फ़ेसबुक, यूट्यूब और वॉट्सऐप के अलावा स्वच्छ भारत, किसान और महिला सुरक्षा से संबंधित भारत सरकार के ऐप होने की बात भी कही गई. हालांकि मुझे इसमें ये ऐप नहीं मिले. लोग इसके बारे में कई सवाल कर रहे हैं. पहला तो ये कि, इतने कम दाम में ये कैसे संभव हुआ? भारतीय ई-कॉमर्स की वेबसाइटों पर छोटे से छोटा स्मार्ट फ़ोन भी क़रीब तीन-चार हज़ार रुपए से कम क़ीमत पर नहीं है.

इसे कहां बनाया जाएगा? कंपनी रिंगिंग बेल्स का कहना है कि इसे देश में ही बनाया जाएगा. लेकिन जो हैंडसेट पत्रकारों को दिए गए, वो ‘मेड इन चाइना’ है. इस पर ब्रांड का नाम एडकॉम लिखा है, जिस पर सफेद पेंट कर दिया गया है.

कंपनी अपनी वेबसाइट पर लोगों से ऑर्डर ले रही है और आगामी जून तक मुहैया करने का वादा भी कर रही है. हालांकि कंपनी ने अभी तक कोई फ़ैक्ट्री भी नहीं बनाई है. इसे देखते हुए लगता है कि लाखों हैंडसेट डिलीवर करना बेहद मुश्किल होगा. हालांकि इस उत्पाद के ख़रीदारों की कमी नहीं है, लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या ये फ़ोन अपने वादों पर ख़रा उतर सकेगा?

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s