उत्तरप्रदेश के प्रत्येक ज़िले मे आगजनी से सुरक्षा हेतु वांछित संसाधनों की भारी कमी है।
    हालत ये है कि 40-50 लाख की आबादी वाले जिलों में सिर्फ़ 4-5 दमकल गाड़ियाँ हैं।
    यानी दस लाख की आबादी पर मात्र एक दमकल वाहन
    ऐसे में इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि अगर कही भी आगज़नी की घटना होती है तो कितने प्रभावी ढंग से आग पर क़ाबू किया जा सकता है।

बाँदा की घटना से किसानों का झलका दर्द

तिंदवारी क्षेत्र के निवासी जयकरन पुत्र रामऔतार के खेत में जौहरपुर फीडर के लिए निकले हाईटेंशन के तार टूटने से 14 बीघे के खेत की फसल जलकर खाक हो गई। हर ज़िले में सैकड़ों किसानों की फ़सल, घर-सम्पत्ति रोज आग में भस्म हो रही है।