आज़मगढ़ के सिधारी थाना क्षेत्र के मतौलीपुर गांव के रहने वाले दीपक कुमार राय और उनके पिता चंद्रभान राय की पूर्व में मौत हो चुकी है। दीपक के आठ वर्षीय पुत्र अंश राय की दोनों किडनी खराब है। घर में सिर्फ़ महिलाएँ हैं और खेती ही जीविका का मुख्य स्रोत है। अंश का इलाज धन में अभाव में नहीं ‬हो पा रहा था।

अंश की मौसी उसे अपनी किडनी देने के लिए तैयार है लेकिन किडनी ट्रांसप्लांट कराने के लिए लाखों रूपये की जरूरत है जो परिवार के पास नहीं है। इस परिवार के पास मात्र ढाई बीघा खेत है जिसमें फसल का उत्पादन कर किसी तरह दो वक्त की रोटी का जुगाड़ लोग कर रहे हैं। अब बच्चे के लिए दवा कहां से लाए। परिजनों के मुताबिक उन्होंने किसी तरह 80 हजार रुपये की व्यवस्था कर जांच पूरी करायी लेकिन अब आपरेशन कराने के लिए उनके पास धन नहीं है। बस वही खेत है जिसे वे बेचकर कुछ धन का जुगाड़ कर सकते हैं लेकिन खेत बेचने के बाद पूरा परिवार भूखों मर जाएगा।

सोशल मीडिया के ज़रिए मासूम बच्चे की बीमारी की खबर लगते ही मुख्यमंत्री ने आज़मगढ़ के ज़िलाधिकारी एनपी सिंह को तत्काल बच्चे के इलाज की समुचित व्यवस्था कराने के आदेश दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी को कल जानकारी प्रेषित की गयी और कल रात में ही एसडीएम प्रशांत बच्चे के घर पहुँचे और यथास्थिति की जानकारी ली।

गर आप भी लिखते है तो हमें ज़रूर भेजे, हमारा पता है:

साहित्य: 

editor_team@literatureinindia.com

समाचार: 

news@literatureinindia.com

जानकारी/सुझाव: 

adteam@literatureinindia.com

हमारे प्रयास में अपना सहयोग अवश्य दें, फेसबुक पर अथवा ट्विटर पर हमसे जुड़ें