आषाढ़ का एक दिन – मोहन राकेश

पात्र अंबिका : मल्लिका : कालिदास : दंतुल : मातुल : निक्षेप : विलोम : रंगिणी : संगिनी : अनुस्वार : अनुनासिक : प्रियंगुमंजरी : ग्राम की एक वृद्धा उसकी पुत्री कवि राजपुरुष कवि-मातुल ग्राम-पुरुष ग्राम-पुरुष नागरी नागरी अधिकारी अधिकारी राजकराजकन्या, कवि-पत्नी अंक एक परदा उठने से पूर्व हलका-हलका मेघ-गर्जन और वर्षा का शब्द, जो परदा उठने के अनंतर भी कुछ क्षण चलता रहता है। … पढ़ना जारी रखें आषाढ़ का एक दिन – मोहन राकेश