‘नरेन्द्र कोहली’ के उपन्यासों में चित्रित नारी स्वतंत्रता की सार्वकालिक समस्याएँ

सुप्रसिद्ध उपन्यासकार श्री नरेन्द्र कोहली का जन्म 6 जनवरी 1940 ईस्वीं को स्यालकोट, पंजाब ( विभाजन पूर्व) में हुआ। यह नगर अब पाकिस्तान में है। नरेन्द्र कोहली एक दायित्ववान रचनाकार है। मानव जीवन में पाये जाने वाले अंतर्विरोध, विसंगतियों और सामाजिक विषमताओं को उन्होंने अपनी रचनाओं का विषय बनाया है। कोहली जी ने भारत की प्रसिद्ध पौराणिक कथाओं रामकथा, महाभारत कथा तथा भगवत गीता की कथा को आधार बनाकर इन्हें … पढ़ना जारी रखें ‘नरेन्द्र कोहली’ के उपन्यासों में चित्रित नारी स्वतंत्रता की सार्वकालिक समस्याएँ

दुष्यंत कुमार की स्मृति में : साधारण जन-जीवन की असाधारण शायरी

आज दुष्यंत कुमार की जयंती है, लेकिन उनकी गजलों की दिलचस्प दुनिया की तरह उनकी जन्म तिथि और उसे लेकर खुद उनकी प्रतिक्रिया बड़ी मजेदार थी. हकीकत में, दुष्यंत कुमार का जन्म 27 सितंबर 1931 को बिजनौर जिले के एक गांव राजपुर नवादा में हुआ था. किन्हीं कारणों से सरकारी अभिलेखों में उनकी जन्म तिथि 1 सितंबर 1933 दर्ज करा दी गई. दुष्यंत कुमार की … पढ़ना जारी रखें दुष्यंत कुमार की स्मृति में : साधारण जन-जीवन की असाधारण शायरी

नमक स्वादानुसार, निखिल सचान, Namak Swadanusar, Nikhil Sachal

पुस्तक समीक्षा: नमक स्वादानुसार

जीवन में नमक की जितनी आवश्यकता है उससे कहीं ज्यादे जरूरी है उसका संतुलित होना. मतलब कि व्यक्ति के जरूरत के हिसाब से होना. नमक की मात्र थोड़ी कम या अधिक हुई नहीं कि आपका जायका बिगड़ जाएगा. जी हां, निखिल सचान की पहली किताब “नमक स्वादानुसार” भी कुछ इसी तरीके के साथ प्रस्तुत किया गया है कि आप चीजों को अपने अनुसार ले सकें. … पढ़ना जारी रखें पुस्तक समीक्षा: नमक स्वादानुसार