मेघदूत – कालिदास (हिंदी रूपांतरण)

Meghdoot by Kalidas in Hindi

कश्चित्‍कान्‍ताविरहगुरुणा स्‍वाधिकारात्‍प्रमत: शापेनास्‍तग्‍ड:मितमहिमा वर्षभोग्‍येण भर्तु:। यक्षश्‍चक्रे जनकतनयास्‍नानपुण्‍योदकेषु स्निग्‍धच्‍छायातरुषु वसतिं रामगिर्याश्रमेषु।|

Advertisements

कालिदास के संस्कृत नाटक विक्रमोर्वशीयम् का हिन्दी कथा रूपांतर।

Vikramovarshiyam_kalidas| Apsara| Urvashi

एक बार देवलोक की परम सुंदरी अप्सरा उर्वशी अपनी सखियों के साथ कुबेर के भवन से लौट रही थी। मार्ग में केशी दैत्य ने उन्हें देख लिया और तब उसे उसकी सखी चित्रलेखा सहित वह बीच रास्ते से ही पकड़ कर ले गया।