ग्यारह सितंबर के बाद – अनवर सुहैल

ग्यारह सितंबर के बाद करीमपुरा में एक ही दिन, एक साथ दो बातें ऐसी हुर्इं, जिससे चिपकू तिवारी जैसे लोगों को बतकही का मसाला मिल गया। अव्वल तो ये कि हनीफ ने अपनी खास मियाँकट दाढ़ी कटवा ली। दूजा स्कूप अहमद ने जुटा दिया... जाने उसे क्या हुआ कि वह दँतनिपोरी छोड़ पक्का नमाजी बन … पढ़ना जारी रखें ग्यारह सितंबर के बाद – अनवर सुहैल

Advertisements

हदिया बोली, जबरन नहीं कुबूला इस्लाम

केरल के कथित लव जिहाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के सामने पेशी के लिए रवाना होने से पहले हदिया बन चुकी अखिला अशोकन ने कहा कि किसी ने भी उसे इस्लाम में धर्मांतरण के लिए मजबूर नहीं किया था. वो अपने पति शफीन जहां के पास जाना चाहती है. हदिया को सोमवार को सुप्रीम कोर्ट … पढ़ना जारी रखें हदिया बोली, जबरन नहीं कुबूला इस्लाम

मांसभक्षियों का तर्क

"सरकार यह कैसे तय करेगी कि हम क्या खाएं और क्या नहीं." अत्यंत वीभत्स, धूर्ततापूर्ण तर्क! यह ठीक वैसे ही है, जैसे हत्यारों द्वारा यह कहना कि सरकार कैसे तय करेगी कि हम किसको मारें और किसको नहीं. या बलात्कारियों द्वारा यह कहना कि यह सरकार कैसे तय करेगी कि हम किसके साथ बलात् यौनाचार … पढ़ना जारी रखें मांसभक्षियों का तर्क

बीफ़ पार्टी के जवाब में काऊ मिल्क अफ्तार पार्टी

बैतूल (म.प्र): केरल में गौ हत्या और बीफ़ पार्टी के जवाब में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच द्वारा गाय के पौष्टिक दूध का वितरण कोठी बाजार जामा मस्जिद के पास किया गया। केरल में की गई गाय की हत्या और बीफ़ पार्टी के विरोध में मिल्क पार्टी का आयोजन हुआ| जिसमें मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय सह … पढ़ना जारी रखें बीफ़ पार्टी के जवाब में काऊ मिल्क अफ्तार पार्टी

गौरक्षा किसी एक वर्ग का कॉपीराइट नहीं है

गौरक्षा का अर्थ है गाय की रक्षा करना। गौरक्षा किसी एक वर्ग का कॉपीराइट नहीं है। ये हर भारतीय का मानवीय धर्म है। ऐसा नहीं है कि सिर्फ हिन्दू गौरक्षा कर सकता है और बाकी धर्मों के लोगों से इसका कोई सरोकार नहीं है। या सिर्फ बीजेपी गौरक्षा करेगी और बाकी राजनैतिक पार्टियां नहीं करेंगी। … पढ़ना जारी रखें गौरक्षा किसी एक वर्ग का कॉपीराइट नहीं है

मुशायरे की आड़ में साम्प्रदायिकता का ज़हर, मोदी को गाली!

इस समय सोशल मीडिया और व्हाट्सअप पर एक विडियो वायरल हो चुका है जिसमे एक व्यक्ति को लाल किले पर १६ फरवरी, २०१६ को आयोजित मुशायरे की आड़ में साम्प्रदायिकता का ज़हर घोलते हुए साफ़ सुना जा सकता है| Mushaira Lal Quila, New Delhi, India from Literature in India on Vimeo. इस विडियो में आप … पढ़ना जारी रखें मुशायरे की आड़ में साम्प्रदायिकता का ज़हर, मोदी को गाली!

कितना जानते है आप इस्लाम को? आखिर कितनी विचारधाराएँ है जिसके बारे में शर्तिया आप नहीं जानते होंगे

चरमपंथ और इस्लाम के जुड़ते रिश्तों से   परेशान भारत में इस्लाम की बरेलवी विचारधारा के सूफ़ियों और नुमाइंदों ने एक कांफ्रेंस कर कहा कि वो दहशतगर्दी के ख़िलाफ़ हैं. सिर्फ़ इतना ही नहीं बरेलवी समुदाय ने इसके लिए वहाबी विचारधारा को ज़िम्मेदार ठहराया.इन आरोप-प्रत्यारोप के बीच सभी की दिलचस्पी इस बात में बढ़ गई है … पढ़ना जारी रखें कितना जानते है आप इस्लाम को? आखिर कितनी विचारधाराएँ है जिसके बारे में शर्तिया आप नहीं जानते होंगे