खिलौनेवाला – सुभद्रा कुमारी चौहान

Khilaune wala_Subhadra Kumari Chauhan_Literature in India

वह देखो माँ आज खिलौनेवाला फिर से आया है। कई तरह के सुंदर-सुंदर नए खिलौने लाया है। हरा-हरा तोता पिंजड़े में गेंद एक पैसे वाली छोटी सी मोटर गाड़ी है सर-सर-सर चलने वाली। सीटी भी है कई तरह की कई तरह के सुंदर खेल चाभी भर देने से भक-भक करती चलने वाली रेल। गुड़िया भी … पढ़ना जारी रखें खिलौनेवाला – सुभद्रा कुमारी चौहान

Advertisements

हींगवाला – सुभद्राकुमारी चौहान

सुभद्राकुमारी चौहान

लगभग 35 साल का एक खान आंगन में आकर रुक गया । हमेशा की तरह उसकी आवाज सुनाई दी - ''अम्मा... हींग लोगी?'' पीठ पर बँधे हुए पीपे को खोलकर उसने, नीचे रख दिया और मौलसिरी के नीचे बने हुए चबूतरे पर बैठ गया । भीतर बरामदे से नौ - दस वर्ष के एक बालक … पढ़ना जारी रखें हींगवाला – सुभद्राकुमारी चौहान